Movie prime

इनेलो की परिवर्तन यात्रा 21 को शनिवार को गुरुग्राम आई तो लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया.

 
इनेलो की परिवर्तन यात्रा 21 को शनिवार को गुरुग्राम आई तो लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया.

गुरुग्राम : इनेलो की परिवर्तन यात्रा शनिवार को 21वें दिन गुरुग्राम जिले में पहुंच गई। यहां पहुंचने पर लोगों ने यात्रा का जोरदार स्वागत किया। चौ.ओमप्रकाश चौटाला ने भाजपा सरकार पर जमकर निशाने साधा और इस जनविरोधी सरकार के खात्मे का संकल्प लेने का आह्वान किया। इनेलो सुप्रीमो ने कहा कि मैं गांव का आदमी हूं, खेत से जुड़ा हुआ हूं। लोगों के दुख दर्द में हर वक्त भटकता रहता हूं, लेकिन बदकिस्मति यह रही कि हरियाणा प्रदेश में एक निकम्मी, भ्रष्ट व लुटेरी सरकार का दांव लग गया

भारत में सभी धर्मों के मानने वाले लोग रहते हैं: ओम प्रकाश चौटाला

उन्होंने कहा कि मुझे दुनिया के 158 मुल्कों में जाने का मौका मिला, सैर-सपाटे के लिए नहीं बल्कि वहां के राजनीतिक, सामाजिक व आर्थिक हालात की जानकारी हासिल करने के लिए। मुझे इस बात की प्रसन्नता हुई कि भारत ही पूरी दुनिया में एक ऐसा देश है, जहां सभी धर्मों को मानने वाले लोग रहते हैं। सभी प्रेम प्यार व भाईचारे से रहते हैं और अपने तीज त्योहार मिलजुल कर मनाते हैं

आपस में फूट डालकर ये लुटेरे लोग हम पर हुकूमत कर रहे हैं: ओम प्रकाश

उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य यह है कि कुछ स्वार्थी किस्म के लोग अपना स्वार्थ पूरा करने के लिए जहां देश की दौलत लूटने का काम कर रहे हैं बल्कि लोगों के बीच जात-पात का जहर भी घोल रहे हैं। आपस में फूट डालकर ये लुटेरे लोग हम पर हुकूमत कर रहे हैं। इन लोगों को ना तो देश से कोई सरोकार है, ना जनता से कोई प्यार है। ये लोग इस तरह का कानून बनाते हैं ताकि देश का पैसा मुठ्ठी भर लोगों के हाथ में चला जाए

मौजूदा सरकार से समाज का हर वर्ग परेशान है: ओम प्रकाश

इनेलो सुप्रीमो ने कहा कि आज कृषि प्रधान देश के किसान व कमेरा वर्ग दुखी व परेशान हैं। उन्होंने कहा कि आज हालात यह है कि सरकार के पास कर्मचारियों को वेतन देने का पैसा तक नहीं, इसके लिए भी कर्ज लेना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि जो बच्चा पैदा होगा, वो 11 हजार करोड़ का कर्ज लेकर पैदा होगा। उन्होंने उपस्थित जनों का आह्वान किया कि जब चुनाव के समय सत्ताधारी नेता उनके पास वोट मांगने आए, तो उनसे इस बाबत सवाल जरूर पूछें, कि जब कोई काम किया ही नहीं तो कर्ज किस बात का? चौटाला ने कहा कि मौजूदा शासन में विकास के नाम पर एक नई ईंट तक नहीं लगी। हमारे शासनकाल के दौरान बनाई गई सडक़ों का बुरा हाल है। स्कूलों में मास्टर नहीं हैं। स्कूलों की इमारतें टूटी पड़ी हैं

WhatsApp Group Join Now