Movie prime

हरियाणा में रिश्वत मामले में पकड़ी गई HCS अधिकारी: बचाने में जुटे CMO समेत 2 वरिष्ठ आईएएस अधिकारी, हुड्‌डा सरकार में मिली थी नोकरी

 
हरियाणा में रिश्वत मामले में पकड़ी गई HCS अधिकारी: बचाने में जुटे CMO समेत 2 वरिष्ठ आईएएस अधिकारी, हुड्‌डा सरकार में मिली थी नोकरी

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के कार्यकाल में भर्ती हुई एचसीएस अधिकारी मीनाक्षी दहिया को बचाने की योजना शुरू हो गई है। मीनाक्षी दहिया मत्स्य विभाग की संयुक्त सचिव हैं. हरियाणा भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने रिश्वत लेने के एक मामले में पंचकुला में एफआईआर दर्ज की है।

मामले में सीनियर स्केल स्टेनोग्राफर जोगिंदर सिंह और सेवादार सत्येन्द्र सिंह को गिरफ्तार किया गया है. एफआईआर में मीनाक्षी दहिया का भी नाम है. मीनाक्षी को बचाने में मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के साथ दो वरिष्ठ आईएएस अधिकारी भी शामिल हैं। एसीबी की टीम मीनाक्षी दहिया की तलाश कर रही है.

सीएमओ से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, सीएमओ की बड़ी पहुंच के साथ-साथ चंडीगढ़ में डीसी रहे एक आईएएस अधिकारी, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के पड़ोसी गांव गुहांड के एक अधिकारी, मंडी बोर्ड से सेवानिवृत्त एक अधिकारी भी हैं। हरियाणा टूरिज्म के एक एक्सईएन, एक सांसद के अधिकारी भाई, 2 मौजूदा आईएएस अधिकारी मीनाक्षी को बचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं

तो अधिकारी सक्रिय हो गए
मीनाक्षी दहिया के मोबाइल फोन की फोरेंसिक जांच से हरियाणा के कई अफसरों के राज खुलने का खतरा है। अगर एसीबी मीनाक्षी की गिरफ्तारी के बाद उसके मोबाइल फोन की जांच करती है, तो इससे कई शांत दिखने वाले नौकरशाह भी बेनकाब हो जाएंगे, जिनके साथ वह व्हाट्सएप पर लंबी बातचीत और चर्चा करती रही है।

मीनाक्षी की भर्ती पर उठे सवाल
मीनाक्षी दहिया वही 2013 बैच की एचसीएस अधिकारी हैं, जिन्हें भूपेन्द्र सिंह हुड्डा सरकार के दौरान भर्ती किया गया था, जिसमें चयनित होने वालों की संभावित सूची विपक्ष ने पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उजागर की थी। एचसीएस बनने से पहले मीनाक्षी एक शिक्षिका थीं, लेकिन अपने चाचा की पहुंच और स्नेह के कारण वह एचसीएस बनने में सफल रहीं।

2014 में हरियाणा में सत्ता परिवर्तन हुआ और बीजेपी सत्ता में आई, लेकिन मीनाक्षी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. उनसे चाहे जितनी बार भी सवाल किया गया, लेकिन बीजेपी सरकार में अपनी पहुंच के चलते वह हर बार टाल गईं।

संयुक्त सचिव मीनाक्षी दहिया, सीनियर स्केल स्टेनोग्राफर जोगिंदर सिंह और सेवादार सत्येन्द्र सिंह पर रिश्वत लेने का मामला दर्ज किया गया है।

संयुक्त सचिव मीनाक्षी दहिया, सीनियर स्केल स्टेनोग्राफर जोगिंदर सिंह और सेवादार सत्येन्द्र सिंह पर रिश्वत लेने का मामला दर्ज किया गया है।

शिक्षक बने एचसीएस अधिकारी
मीनाक्षी शिक्षिका से सीधे एचसीएस अधिकारी बन गईं। कैथल सफाई घोटाले समेत कई मामलों में मीनाक्षी का नाम सामने आया, लेकिन किन्हीं कारणों से वह बाहर निकलने में कामयाब रहीं।

अब वही अधिकारी एक बार फिर मीनाक्षी को बचाने की कोशिश कर रहे हैं, जिनके कोर्ट में तब से आना-जाना लगा हुआ है सूत्रों का कहना है कि अगर मीनाक्षी अभी नहीं फंसती तो वह चार जून के बाद सीएमओ के बेहद ताकतवर अधिकारी को हॉट सीट पर तैनाती का आदेश जारी कराने में कामयाब हो जातीं।

WhatsApp Group Join Now