Movie prime

अगर आपका बच्चा छुप रहा है या झूठ बोल रहा है तो इस आदत को सुधारें

 
अगर आपका बच्चा छुप रहा है या झूठ बोल रहा है तो इस आदत को सुधारें

बच्चों को सच और झूठ के बीच का अंतर समझाना किसी चुनौती से कम नहीं है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ बच्चे कई बार गलत संगत में पड़कर झूठ बोलने लगते हैं। जब वे पकड़े जाते हैं तो हमें उनके झूठ का पता चलता है। यह माता-पिता के लिए चिंता का विषय बन जाता है जब उन्हें पता चलता है कि वे हर दिन झूठ बोलने के आदी हो गए हैं। ऐसे में माता-पिता इस बात को लेकर चिंतित रहते हैं कि बच्चों की आदत कैसे सुधारें। अगर आपका बच्चा भी वहीं लेटा हुआ है तो माता-पिता इन टिप्स की मदद से बच्चे की आदत सुधार सकते हैं।

झूठ बोलने की आदत किसी के लिए भी अच्छी नहीं होती लेकिन फिर भी हम लोगों को कभी-कभी न चाहते हुए भी झूठ बोलना पड़ता है। लेकिन अगर बच्चे को बचपन से ही झूठ बोलने की आदत हो गई है तो समय रहते इस आदत को सुधारना जरूरी है।

1. झूठ बोलने का कारण समझें
अगर आप अपने बच्चे की झूठ बोलने की आदत को सुधारना चाहते हैं तो सबसे पहले यह समझें कि वे झूठ क्यों बोल रहे हैं। एक बार जब आपको कारण पता चल जाएगा, तो आप बेहतर तरीके से समाधान ढूंढ पाएंगे। अक्सर बच्चे कोई बात छिपाते हैं या उसके बारे में झूठ बोलते हैं जब उन्हें लगता है कि इसके लिए उन्हें डांटा जा सकता है। ऐसे में बच्चे इसे छुपाना पसंद करते हैं।

2. सत्यवादिता को प्रोत्साहित करें
अगर आपको लगे कि आपका बच्चा वहीं पड़ा हुआ है तो उस पर चिल्लाने या डांटने की बजाय उसे प्यार से समझाएं। साथ ही, उन्हें आश्वस्त करें कि आप उनकी बात सुनेंगे और उन्हें डांटेंगे नहीं या उन पर गुस्सा नहीं करेंगे। बच्चों को घर में खुशनुमा माहौल दें। बिना बात किए उन पर चिल्लाना उन्हें आपसे दूर कर सकता है।

3. झूठ और सच में अंतर स्पष्ट करें
अपने बच्चे से सच बोलने और झूठ बोलने के फायदे और नुकसान के बारे में खुलकर बात करें। उन्हें यह महसूस कराएं कि अगर उनसे बातचीत के आधार पर झूठ बोला जाए तो उन्हें कैसा महसूस होगा। आप कहानियों के माध्यम से बच्चों को अपनी बात समझा सकते हैं।

WhatsApp Group Join Now