चीन सीमा विवाद को लेकर विदेश मंत्री का बड़ा बयान कहा भारत अपने हितों की रक्षा करने में पूरा सक्षम

विदेश मंत्री डॉक्टर एस जयशंकर ने चीन सीमा विवाद पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अच्छे संबंध चाहते हैं लेकिन अच्छे संबंध हमारे राष्ट्रीय हितों की कीमत पर ही नहीं हो सकते।

चीन सीमा विवाद को लेकर विदेश मंत्री का बड़ा बयान कहा भारत अपने हितों की रक्षा करने में पूरा सक्षम
चीन सीमा विवाद को लेकर विदेश मंत्री का बड़ा बयान कहा भारत अपने हितों की रक्षा करने में पूरा सक्षम

विदेश मंत्री डॉक्टर एस जयशंकर गुजरात के IIM अहमदाबाद में छात्रों को भारतीय विदेश नीति पर संबोधित किया और चीन के साथ सीमा विवाद पर कई अहम बातें कहीं उन्होंने कहा, चीन को चुनौती के सामने हम अड़े रहे। दुनिया ने माना भारत अपने हितों की रक्षा करने में सक्षम है।

दुनिया ने मना भारत का रुख सख्त है

विदेश मंत्री ने कहा, 2 साल पहले कॉविड के बीच चीन ने समझौते का उल्लंघन करते हुए चाल चली थी। लेकिन हम अपनी जमीन पर अड़े रहे और बिना किसी रियासत के इस पर काम कर रहे हैं। दुनिया ने माना कि देश अपने हितों की रक्षा करने में सक्षम है। जयशंकर ने कहा।मुद्दा यह नहीं है कि हमारे बीच अच्छे संबंध होने चाहिए या नहीं, हम अच्छे चाहते हैं, लेकिन अच्छे संबंध हमारे राष्ट्र हित की कीमत पर नहीं हो सकते यह एक अशांत सीमा की कीमत पर नहीं हो सकते हैं।

हमने स्वतंत्र रुख अपनाया

विदेश मंत्री जयशंकर ने रूस यूक्रेन युद्ध पर भारत के रुख के बारे में बोलते हुए कहा। यूक्रेन युद्ध पर स्वतंत्र रुख अपना कर भारत ने कई विदेशी देशों की भावनाओं को व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि इस परिस्थिति में देशों पर कोई एक पक्ष सुनने का भारी दबाव रहता है। अगर हमने स्वतंत्र रुख अपनाए यानी हमारे लोगों के कल्याण के दृष्टिकोण से जिन फैसलों को सही समझा भी फैसला लिया। इस बात की पूरी दुनिया ने सहारना की

भारत जमीनी स्तर पर मजबूत उन्होंने कहा

2 साल पहले महामारी के बीच में चीन ने समझौते का उल्लंघन करते हुए हमारी सीमा के करीब सैनिक तैनात कर दिए। हम अपने सख्त रूख पर कायम रहे और 2 साल से हम उस पर काम कर रहे हैं। कोई नरमी नहीं बढ़ते रहे और मुझे लगता है कि भी सब ने इसकी सहारना की है। उन्होंने कहा, वैश्विक समुदाय ने देखा कि बाहर तो जमीनी स्तर पर मजबूत और अपने हितों को सामने रखने में मुखर भी हो सकता है।