कश्मीर में आंतक के खात्मे के लिए फाइनल स्ट्राइक जरूरी डीजीपी दिलबाग सिंह

जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक DSP दिलबाग सिंह ने उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की और जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में शांति और स्थिरता को मजबूत करने के लिए प्रयास किए जाने जरूरी हैं।

कश्मीर में आंतक के खात्मे के लिए फाइनल स्ट्राइक जरूरी डीजीपी दिलबाग सिंह
कश्मीर में आंतक के खात्मे के लिए फाइनल स्ट्राइक जरूरी डीजीपी दिलबाग सिंह

जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक DSP दिलबाग सिंह ने उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की और जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में शांति और स्थिरता को मजबूत करने के लिए प्रयास किए जाने जरूरी हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए DGP ने कहा कि पुलिस और अन्य सुरक्षा बलों के संयुक्त प्रयासों से हमने जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों की संख्या काफी घटी है।

रणनीति रूप से नियोजित अंतिम हमले की आवश्यकता।

डीजीपी ने कहा कि अंतक मुक्त जम्मू कश्मीर की ओर मार्च करने के लिए रणनीतिक रूप से नियोजित अंतिम हमले की आवश्यकता है। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर में सुरक्षा की स्थिति में पिछले 3 वर्षों के दौरान उल्लेखनीय सुधार हुआ है।

जम्मू कश्मी कश्मीर में बंद बुलाने की संस्कृति समाप्त। 

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि कश्मीर में बंद बुलाने की संस्कृति लगभग पूरी तरह से समाप्त हो गई। डीजीपी ने आंतकवादी परिस्थितियों तंत्र को ध्वस्त करने के लिए हर संभव प्रयास करने पर जोर दिया जो आंतकवादी रंगों को ऑक्सीजन प्रदान कर रहा है।

अंतके खिलाफ लगातार अभियान चला रहे सुरक्षा बल

डीजीपी ने अधिकारियों को उनके सृजनशीलता के आधार पर लंबित प्रकरणों या यथाशीघ्र निस्तारण करने का निर्देश दिया। बता दें कि बीते समय में भारतीय सुरक्षा बलों ने कश्मीर में आंतकी संगठनों की कमर तोड़ कर रख दी है। कश्मीर में अब तक के खिलाफ लगातार अभियान चलाए गए हैं और कई बड़े कमांडर और सुरक्षा बलों ने ढेर किया गया है।