पानीपत गैंगरेप केस में एक और गिरफ्तार: सरगना ने जहर निगला, तीसरा बचकर भागा; ग्रामीणों ने फोटो से उसकी पहचान की और उसे गिरफ्तार करने में सफल रहे.

पानीपत गैंगरेप केस में एक और गिरफ्तार: सरगना ने जहर निगला, तीसरा बचकर भागा;

पानीपत गैंगरेप केस में एक और गिरफ्तार: सरगना ने जहर निगला, तीसरा बचकर भागा; ग्रामीणों ने फोटो से उसकी पहचान की और उसे गिरफ्तार करने में सफल रहे.
पानीपत गैंगरेप केस में एक और गिरफ्तार: सरगना ने जहर निगला, तीसरा बचकर भागा;

Panipat News ; पानीपत में 3 महिलाओं से गैंगरेप केस में पुलिस ने एक और आरोपी नरेंद्र को उत्तर प्रदेश के बागपत के बड़ौत से गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी ज्योति छूटकर भागने में कामयाब रहा,  जबकि मास्टरमाइंड ने तुरंत जहर निगलकर सुसाइड करने की कोशिश की। उसका मेरठ के मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है

नरेंद्र को पुलिस पकड़कर पानीपत लेकर आई है। रविवार को उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा

बड़का गांव के रमेश और सुनील समेत कई ग्रामीणों ने शनिवार दोपहर बाइक सवार राजू, ज्योति और नरेंद्र को पकड़ लिया। वे बड़का में एक रिश्तेदार के पास मिलने गए थे। ग्रामीणों ने बताया कि  पुलिस ने बदमाशों के फोटो जारी कर रखे थे। उन्होंने बाइक सवारों को पहचान लिया और पकड़ लिया

ज्योति छूटकर भाग निकला और राजू उर्फ राजीव ने जेब से निकालकर जहर निगल लिया। ग्रामीणों ने बताया कि  राजू और नरेंद्र को लेकर बड़ौत पहुंचे और राजू को आस्था अस्पताल में भर्ती कराया।  सूचना के बाद बड़ौत पुलिस अस्पताल पहुंची। डॉक्टरों ने राजू को गंभीर हालत के कारण मेरठ के मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया है

गैंगरेप केस के मास्टरमाइंड राजू का मेरठ के मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है

बड़का के ग्रामीणों के संपर्क में था नरेंद्र

ग्रामीणों ने बताया कि नरेंद्र कई साल पहले बड़का गांव में रमेश के कोल्हू पर काम करता था। 20 सितंबर की वारदात के बाद भी यह बड़का गांव के कुछ लोगों से फोन पर संपर्क में था। इस पर पानीपत पुलिस बड़का तक पहुंची और यहां के दो युवकों को 28 सितंबर को हिरासत में ले लेकर  आरोपियों की तलाश में जुटी थी

हिरासत में लिए एक युवक को शुक्रवार रात पुलिस ने छोड़ दिया था, पुलिस ने बड़का गांव के लोगों को तीनों आरोपियों के फोटो भी उपलब्ध कराए थे। इसके बाद शनिवार को ग्रामीणों ने बड़ौत के  पास से तीनों आरोपियों को पकड़ लिया। ज्योति भाग गया।

30 से अधिक वारदातों को दे चुका अंजाम

इस मामले में पुलिस ने सरगना के भाई सोनू, जयभगवान और नवीन को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। उन्होंने बताया था कि राजू गैंग का सरगना है। वह मजदूर बनकर दिन में रेकी करते थे और  रात में वारदात को अंजाम देते थे। आरोपी डेरों पर 30 से अधिक वारदात को अंजाम दे चुके हैं, राजू से पूछताछ में कई और घटनाओं का खुलासा हो सकता है